ईईसीपी ट्रीटमेंट - साओल हार्ट सेण्टर सूरत | #heartproblems | EECP Treatment - Heart Center Surat

1 Views
Published
भारत में ८०% लोग हार्ट अटैक के ६-७ घंटे बाद स्टेंट या बाईपास सर्जरी करवाते है जिसका कोई फायदा नहीं है।

हमारे हार्ट में बाईपास की नेचुरली सुविधा होती है इसलिए ऑपरेशन से बाईपास करने की आवश्यकता हरबार नहीं होती। बिना किसी कार्डियक ऑपरेशन के हार्ट ब्लॉकेज रिवर्सल की मदद से हार्ट अटैक से बचा जा सकता है।

सूरत में स्थित साओल हार्ट सेण्टर सूरत पिछले ११ सालो से हार्ट पेशेंट्स को सफलतापूर्वक ईईसीपी ट्रीटमेंट दे रहा है।

भारत के सुप्रसिद्ध कार्डियोलॉजिस्ट और पूर्व आईआईएम कार्डियोलॉजिस्ट डॉ.बिमल छाजेड़ द्वारा सुशिक्षित डॉ.राकेश कथिरिया (हार्ट केयर स्पेशलिस्ट & डायरेक्टर ऑफ़ साओल हार्ट सेण्टर सूरत) पिछले ११ साल से ईईसीपी के द्वारा लो हार्ट पम्पिंग, छाती में दर्द और साँस फूलने जैसी हार्ट प्रोब्लेम्स का इलाज कर रहे है।

साओल हार्ट सेण्टर में ईईसीपी ट्रीटमेंट, डेटॉक्स ट्रीटमेंट, कार्डियक योगा और जीरो आयल डाइट फ़ूड प्रोग्राम जैसी ट्रीटमेंट्स प्रदान करता है। इसके आलावा साओल सूरत में बहार से आनेवाले हार्ट पेशेंट्स को रहने और खाने की सुविधा भी प्रदान करता है।


हार्ट ब्लॉकेज रिवर्सल के बारे में अधिक जानकारी के लिए साओल हार्ट सेण्टर सूरत को सम्पर्क करे या ब्राँच की मुलाकात ले।

Call or Whatsapp
Category
Health
Be the first to comment